वर्ल्ड हेल्थ डे या विश्व स्वास्थ्य दिवस कब मनाया जाता है? और क्यों मनाया जाता है?

एक अच्छा स्वास्थ्य मानव के लिए बहुत उपयोगी होता है, कहा जाता है ना कि पहला सुख निरोगी काया मतलबी गैस अख्तरी पहला सुख है। जो निरोगी है, जिसमें कोई रोग नहीं है। जान है तो जहान है अगर आपका शारीरिक स्वास्थ्य अच्छा नहीं है, तो आप का मानसिक स्वास्थ्य अच्छा नहीं होता। और अगर मानसिक स्वास्थ्य सही नहीं है तो आपका शारीरिक स्वास्थ्य भी असंतुलित हो जाता है। तो यह दोनों प्रकार के स्वास्थ्य एक दूसरे से जुड़े हुए हैं तो एक मानव को शारीरिक रूप से भी स्वस्थ होना चाहिए और मानसिक रूप से भी स्वस्थ होना चाहिए। 

वर्तमान में प्रदूषण के इतने बढ़ने के कारण जलवायु परिवर्तन एक मुख्य समस्या बन गई है, जो कि किसी एक देश की समस्या नहीं है, बल्कि एक वैश्विक समस्या है। जलवायु परिवर्तन के कारण बहुत सारी बीमारियां विश्व में फैल रही है, अपना प्रकोप दिखा रही है, जबकी हमने 2020 में कोरोना महामारी को देखा है और जिस का प्रकोप हम वर्तमान तक झेल रहे हैं। इस महामारी ने पूरे विश्व को झकझोर कर रख दिया लेकिन सच्चाई यह है कि इस महामारी के आने के पीछे का कारण मनुष्य ही है, मनुष्य के द्वारा इतनी अधिक मात्रा में प्रदूषण किया गया की महामारी का आना स्वाभाविक था। 

विश्व स्वास्थ्य दिवस

विश्व को स्वास्थ्य संबंधी जागरूकता प्रदान करने के लिए उन्हें स्वास्थ्य संबंधी जानकारी देने के लिए विश्व की लोगों का स्वास्थ्य स्तर ऊंचा करने के लिए एक संगठन है, जिसका नाम वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन(WHO) हिंदी में इसका नाम विश्व स्वास्थ्य संगठन का गठन है। इस संगठन के द्वारा विश्व स्तर पर प्रतिवर्ष विश्व स्वास्थ्य दिवस वर्ल्ड हेल्थ डे का आयोजन किया जाता है। इस पोस्ट में हम आपको यह बताएंगे कि वर्ल्ड हेल्थ डे कब मनाया जाता है और इसके पीछे के उद्देश्य क्या है विश्व स्वास्थ्य दिवस कब से मनाना शुरू हुआ तो आप इस पोस्ट में शुरू से अंत तक बने रहें ताकि आपको सारी जानकारी प्राप्त हो सके।

World Health Day या विश्व स्वास्थ्य दिवस कब मनाया जाता है?

जैसा कि हमने आपको बताया कि वर्ल्ड हेल्थ डे या विश्व स्वास्थ्य दिवस का आयोजन वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन या विश्व स्वास्थ्य संगठन के द्वारा किया जाता है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के द्वारा प्रतिवर्ष 7 अप्रैल विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाया जाता है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के द्वारा प्रतिवर्ष एक नई थीम के साथ वर्ल्ड हेल्थ डे का आयोजन किया जाता है 2022 की थीम है: Our Planet Our Health

वर्ल्ड हेल्थ डे की शुरुआत 1950 में की गई। 1950 के बाद प्रतिवर्ष 7 अप्रैल को वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के द्वारा वर्ल्ड हेल्थ डे मनाया जाता है। क्योंकि 7 अप्रैल को 1948 को वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन की स्थापना हुई थी। 1948 में जेनेवा में पहला स्वास्थ्य दिवस विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा आयोजित किया गया। और इस बैठक में सर्व संपत्ति से यह स्वीकार किया गया कि प्रत्येक वर्ष 7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाया जाएगा। विश्व स्वास्थ्य दिवस वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन द्वारा चिन्हित 8 अधिकारिक विश्व स्वास्थ्य अभियानों में से एक प्रमुख अभियान है।

World Health Day क्यो मनाया जाता है?

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन का मानना है कि विश्व में प्रतिवर्ष 13 मिलियन लोग पर्यावरणीय कारणों के कारण मृत्यु को प्राप्त हो रहे हैं। जिनमें एक सबसे प्रमुख कारण है जलवायु संकट, जो कि एक वैश्विक संकट है। 90% से अधिक लोग अस्वास्थ्य कर हवा में सांस ले रहे हैं, जो उनके स्वास्थ्य के लिए बहुत ही हानिकारक है। जलवायु परिवर्तन के कारण कुछ क्षेत्रों में सूखा पड़ जाता है, तो कुछ क्षेत्रों में बाढ़ आ जाती है। तूफान का आना एक आम बात हो गई है, जलवायु परिवर्तन के कारण खाद्य श्रंखला में परिवर्तन हो गया है, मौसम चक्र में परिवर्तन हो गया है, प्रदूषण के बढ़ने के कारण तापमान में बढ़ोतरी के कारण समुंदर जलस्तर बढ़ रहे हैं।

जिसके कारण समुंदर के किनारे के क्षेत्र समुंदर में डूब रहे हैं, वैश्विक तपन बहुत अधिक मात्रा में बढ़ रहा है, और इन सब का कारण है प्रदूषण जो कि मानव के द्वारा किया गया है, तो इन सभी क्रियाओं के जिम्मेदार हम लोग हैं। इन सभी समस्याओं के समाधान के लिए वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के द्वारा प्रतिवर्ष 7 अप्रैल विश्व स्वास्थ्य दिवस/ वर्ल्ड हेल्थ डे मनाया जाता है। जिससे वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन विश्व के लोगों को यह बता सकें वर्तमान में स्वास्थ्य से संबंधित कितनी समस्याएं विद्यमान है, और इन सब का समाधान क्या हो सकता है?

तो वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन का प्रमुख कार्य होता है, लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक बनाना, उन्हें यह जागरूकता प्रदान करना कि अधिक प्रदूषण से हमारी पृथ्वी पर क्या असर हो रहा है? और इसका किस प्रकार से प्रभाव हमारे स्वास्थ्य पर पड़ रहा है।

कोविड-19 महामारी ने हमें विज्ञान की उपचार शक्ति दिखाइ है, इसने हमारी दुनिया में असामनता कि कमी को भी उजागर किया है। महामारी ने समाज के सभी क्षेत्रों में कमजोरियों को प्रकट किया, पारिस्थितिकी सीमाओं को तोड़े बिना अभी तक, और आने वाली पीढ़ियों के लिए समान स्वास्थ्य प्राप्त करने के लिए प्रतिबद्ध स्थाई कल्याणकारी समाज बनाने की तात्कालिकता  को रेखांकित किया है। अर्थव्यवस्था का वर्तमान रूप आय, धन और शक्ति के असमान वितरण की ओर जा रहा है। जिसने बहुत से लोग अभी भी गरीबी के नीचे आते हैं, उन्हें अच्छे स्वास्थ्य सेवाएं प्राप्त नहीं हो पाती है।

एक कल्याणकारी अर्थव्यवस्था के उद्देश्य के रूप में मानव कल्याण, समानता और पारिस्थितिकी स्थिरता बहुत ही महत्वपूर्ण है। इन लक्ष्यों को दीर्घकालिक निवेश, कल्याण बजट, सामाजिक, सुरक्षा और कानूनी और वित्तीय नीतियों में अनुवादित किया जाना बहुत महत्वपूर्ण है। और इन सभी कार्यों को वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के द्वारा किया जाता है। यह संगठन सभी देश की सरकारों को यह निर्देश देता है कि किस प्रकार से इस संकट से बचा जा सकता है। क्योंकि जितना अधिक मात्रा में प्रदूषण होगा, बीमारियों की संख्या और भी अधिक मात्रा में बढ़ती जाएगी, और लोगों का स्वास्थ्य स्तर गिरता जाएगा।

वर्ल्ड हेल्थ

तो इस प्रकार हम देखते हैं कि वर्ल्ड हेल्थ डे का आयोजन निम्न कारणों के लिए किया जाता है।

  • वर्तमान में बढ़ रही महामारी ओं को कम करने के लिए।
  • प्रत्येक देश की स्वास्थ्य स्तर को ऊंचा करने के लिए।
  • विश्व में स्वास्थ्य संबंधी जागरूकता प्रदान करने के लिए।
  • विश्व में स्वास्थ्य से संबंधित समस्याओं का समाधान करने के लिए उन समस्याओं को बताने के लिए।
  • बेहतर स्वास्थ्य से संबंधित योजनाएं बनाने के लिए।
  • बेहतर स्वास्थ्य प्राप्त करने के लिए लक्ष्य बनाने के लिए।

वर्ल्ड हेल्थ डे केसे मनाया जाता है?

विभिन्न स्वास्थ्य संगठन, गैर सरकारी व सरकारी संगठन निजी संगठनों के द्वारा लोगों के स्वास्थ्य से जुड़े मुद्दों से संबंधित कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। मीडिया, पत्रों के माध्यम से जागरूकता लाई जाती है, स्वास्थ्य से संबंधित जुड़ी समस्याओं और उनके समाधान से संबंधित चर्चा की जाती है, कला प्रदर्शनी का आयोजन किया जाता है, निबंध लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है, पुरस्कार समारोह का भी आयोजन किया जाता है। इस प्रकार से वर्ल्ड हेल्थ डे को मनाया जाता है।

निष्कर्ष

इस पोस्ट में हमने आपको विश्व स्वास्थ्य दिवस के बारे में पूरी जानकारी प्रदान की है। कि इसकी शुरुआत कब हुई? क्यों मनाया जाता है? कैसे मनाया जाता है? और किसके द्वारा आयोजित किया जाता है? विश्व स्वास्थ्य दिवस एक बहुत ही महत्वपूर्ण दिवस है, क्योंकि हमारे स्वास्थ्य संबंधित है। और स्वास्थ्य से महत्वपूर्ण कुछ भी नहीं होता, और सारी वस्तुएं स्वास्थ्य के बाद आती है, जान है तो जहान है। अगर जान ही नहीं रहेगी तो जहान का क्या करोगे? तो इसलिए इससे स्वास्थ्य दिवस पर आप भी अपने स्वास्थ्य से संबंधित जागरूकता रखें, और अन्य लोगों को भी इसकी जानकारी दें कि वह अपने स्वास्थ्य का पूरी तरह से ध्यान रखें।

उम्मीद है कि यह पोस्ट जिसमे विश्व स्वास्थ्य दिवस की जानकारी दी गयी है आपको पसंद आया होगा अगर हां! तो अपनी फ्रेंड के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें, और ऐसी ही अन्य विषय पर पोस्ट पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट को दोबारा से जरूर विजिट करें, और अगर आपको लगता है कि इस पोस्ट में किसी भी प्रकार की सुधार की आवश्यकता है तो आप कमेंट बॉक्स में अपनी राय जरूर दे सकते हैं, हमें आपकी राय का स्वागत होगा और आप द्वारा सुझाए गए सुझाव को हम अपने लिए पोस्ट में एड करने की पूरी कोशिश करेंगे। पोस्ट पढ़ने के लिए धन्यवाद!

FAQs

डब्ल्यूएचओ का पूरा नाम क्या है?

डब्ल्यूएचओ का पूरा नाम वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन है।

डब्ल्यूएचओ की स्थापना कब हुई?

डब्ल्यूएचओ की स्थापना 7 अप्रैल 1948 को हुई।

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन का मुख्यालय कहां है?

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन का मुख्यालय जेनेवा (स्विट्जरलैंड) में हैं।

सर्वप्रथम विश्व स्वास्थ्य दिवस का आयोजन कब किया गया?

सर्वप्रथम विश्व स्वास्थ्य दिवस का आयोजन 7 अप्रैल 1950 को किया गया था।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.