Tata और Airtel ने मिलाया हाथ, उनके सहभागिता से बनेगा भारत मैं पूर्ण स्वदेशी 5G Network

नमस्कार दोस्तों, हाल ही मैं Tata की IT सेवा प्रदानकारी संस्था TCS (Tata Consultancy Services) और भारत के द्वितीय सबसे बड़ा Mobile Network Airtel ने एक दूसरे से हात मिलाया है भारत मैं पूर्ण स्वदेशी 5G Network प्रसारित करने के लिए। 

इनके पहले Jio ने भी घोषणा किया था की वो भारत मैं स्वदेशी 5G Network प्रसारित करने के काम कर रहा है। और Jio का सबसे बड़ा प्रतिद्वंदी होने के नाते Airtel को भी इस प्रतिद्वंदिता मैं हिस्सा लेना था इस लिए Airtel ने TCS से हात मिलाया है Jio को कड़ी टक्कर देने के लिए। 

पर Airtel ने TCS से सहभागिता क्यों की ?

ये पोस्ट चेक करें – ₹15000 के अंदर Best 5g Smartphones

TCS मैं ऐसा क्या है जो Airtel 5G Network लाने के लिए उसके साथ सहभागिता किया?

TCS ने एक अत्याधुनिक Technology O-RAN को विकसित किया है को पूर्ण रूप से स्वदेशी Made In India है। TCS भी एक ऐसे Network कंपनी की तलाश मैं था जो उनके O-RAN Technology को उपयोग कर सकता है और ऐसे मैं Airtel उनके Technology मैं दिलचस्पी ली और TCS के साथ सहभागिता कर लिया। 

Airtel भारत में अपनी 5G रोलआउट योजनाओं के हिस्से के रूप में इस स्वदेशी Technology को उपयोग और तैनात करेगा। सरकार द्वारा तैयार किए गए मानदंडों के अनुसार जनवरी 2022 तक यह व्यावसायिक विकाश लायक बन जायेगा ऐसे TCS का कहना है। 

भारत की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी टाटा कंसल्टेंसी TCS O-RAN Alliance का सदस्य है, जो RAN (Radio Access Network) के उद्योग में काम कर रहे मोबाइल नेटवर्क Operator, विक्रेताओं और अनुसंधान और शैक्षणिक संस्थानों का एक वैश्विक समुदाय है।

और Airtel भी O-RAN का बोर्ड सदस्य है और भारत में O-RAN आधारित नेटवर्क का पता लगाने और उसे लागू करने के लिए काम कर रहा है। 

TCS के साथ सहभागिता से Airtel अब और भी मजबूत बन गया है है विश्व के द्वितीय सबसे बड़ा Telecom Market भारत इस सहभागिता से पूरे विश्व मैं एक बड़ा Network सेवा प्रदनकारी बन सकता है। 

भारत मैं Airtel सबसे पहले 5G Network का सफल परिक्षण भी किया था हैदराबाद मैं और उसके बाद Jio ने भी मुम्बई मैं अपने 5G का सफल परीक्षण किया था। 

अंतिम बात

भारत के दो बड़े बड़े दिग्गज कंपनी की सहभागिता यह दर्शाता है की भारत धीरे धारे विकाश के और जा रहा है और स्वाबलंबी बन रहा है। 

Airtel और TCS, Airtel 5G Network के लिए काम करने से भारत एक पूर्ण स्वदेशी ज्ञानकौशल से निर्मित 5G उपयोगकर्ता राष्ट्र बन जायेगा और ऐसा भी संभव है की दूसरे देशों की तुलना मैं भारत कम दाम पर 5G का उपयोग कर पाएगा। 

तो दोस्तों हमारा ये Post कैसा लगा Comments करके जरूर बताएं और दोस्तों मैं Share करना ना भूलें धन्यवाद। 

thehindisagar

TheHindiSagar हिंदी सागर Blog आप के लिए हमेसा Best Content लाता है। हमारा लक्ष लोगों को सूचनात्मक कंटेंट के माध्यम से सूचित करना जिसे वो समझ सके। हम Technology से लेके मनोरंजन तक, Politics से ले कर Business तक, खेल से लेके नौकरी तक की सुचना सबकुछ की खबर आपके पास लाने की निरंतर प्रयास कर रहे हैं।

Related Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.