प्रोटोन की खोज किसने की? तथा इसकी खोज कब हुई?

हमारा आज का विषय है प्रोटोन की खोज किसने की? जैसे की हम सब जानते है की आज कल सामान्य ज्ञान होना कितना जरुरी है इसी तरह इलेक्ट्रान,प्रोटोन,न्यूट्रॉन इन सब की भी जानकारी रहना बहुत जरुरी है ऐसे प्रश्न कॉम्पिटिटिव एग्जाम में पूछा जाता है. प्रोटोन की खोज किसने की ये जानने से पहले यह जान लेना जरुरी है की प्रोटोन क्या है?

आपकी जानकारी के लिए बता दें की प्रोटोन परमाणु का एक मौलिक कण है जो परमाणु के नाभिक रहता है. प्रोटोन तीन मुख्य कणों में से एक है जो परमाणु बनाते है। प्रोटोन को p+ चिन्ह के द्वारा दर्शाया जाता है, यह एक धनात्मक विघुत आवेशयुक्त मूलभूत कण है जो परमाणु के नाभिक में न्यूट्रॉन में पाया जाता है।

प्रोटोन की खोज किसने की?

प्रोटोन की खोज 1920 में अर्नेस्ट रदरफोर्ड ने कीया था. अर्नेस्ट रदरफोर्ड प्रसिद्ध रसायनज्ञ तथा भोतिकशास्त्री थे। इनका जन्म 30 अगस्त 1871 को न्यूज़ीलैण्ड में हुआ था।

रदरफोर्ड परमाणु के नाभिक में भिन्न भिन्न प्रकार के प्रोटोन पाए जाते है, हाइड्रोजन के नाभिक में प्रोटोन की संख्या एक होती है. रदरफोर्ड ने एक परमाणु मॉडल दिया था। 1911 में रदरफोर्ड ने कई प्रयत्नों के बाद अपने प्रयोगों के निष्कर्ष निकालते हुए कहा की-”परमाणु के बीजो बिच एक धनात्मक केंद्र पाया जाता है इस केंद्र में ही अधिकतर भार होता है”

उन्होंने यह भी बताया था की “परमाणु का अधिकांश द्रव्यमान उस परमाणु के नाभिक में केन्द्रित होता है तथा उस नाभिक के चारो तरफ इलेक्ट्रान चक्कर लगाते है”। इस केंद्र में धनात्मक कण पाए जाते है इन धनात्मक कण को 1920 में खोजा और पहली बार इन कणों को रदरफोर्ड ने प्रोटोन नाम दिया। अर्नेस्ट रदरफोर्ड ने अपने गोल्ड फाइल्स प्रयोग में परमाणु के नाभिक में मोजूद धनात्मक कण प्रोटोन की खोज की, प्रोटोन के अलावा इन्होने अपने जीवन में ओर कई आविष्कार किये थे इसी तरह इन्होने विज्ञान के क्षेत्र में अपना एक महत्वपूर्ण नाम बनाया।

प्रोटोन की खोज किसने की_Ernest_Rutherford

प्रोटोन के असली खोजकर्ता:

प्रोटोन के असली खोजकर्ता यूजीन गोल्डस्टीन है, यूजीन के द्वारा 1886 में H+ के रूप में यह खोज की गयी थी.परन्तु प्रोटोन की खोज रदरफोर्ड द्वारा अपने गोल्ड फाइल्स प्रयोग के द्वारा किया गया था। प्रोटोन की असली खोज गोल्दस्टीन ने की थी और प्रोटोन का नाम रदरफोर्ड ने रखा था, एनोड किरण प्रयोग से एक प्रोटोन प्राप्त होता है यह धन आवेशित है।

प्रोटोन कैसा होता है?

जितना आवेश उपस्थित इलेक्ट्रान में होता है उतना ही प्रोटोन में भी होता है परन्तु प्रकृति में विपरीत होता है, इलेक्ट्रान में ऋणात्मक आवेश होता है और प्रोटोन में धनात्मक आवेश होता है। प्रोटोन इकाई विघुत आवेश्य्क्तु होता है। हाइड्रोजन ही एक मात्र ऐसा तत्व है जिसके परमाणु नाभिक में प्रोटोन अकेला पाया जाता है, बाकी अन्य सभी परमाणु के नाभिक में प्रोटोन न्यूट्रॉन के साथ पाया जाता है।

ये भी पढ़ें –

 

प्रोटोन का भार:

प्रोटोन का भार 1.67262×10-27 किलोग्राम होता है. इसका भार न्यूट्रॉन से थोड़ा कम होता है तथा इलेक्ट्रान के भार का लगभग 1,836 गुना होता है। प्रोटोन मौलिक कण नही है, इसलिए उनके पास मापने योग्य आकार होता है, एक प्रोटोन का मूल माध्य वर्ग आवेश त्रिच्या लगभग 0.84-0.87 fm होता है।

प्रोटोन का आवेश:

प्रोटोन पर विघुत आवेश परिणाम में इलेक्ट्रोन के बराबर किन्तु विपरीत होता है अतः प्रोटोन पर आवेश= 1.6×10^-19 कूलाम है. इसका द्रव्यमान 9.1×10-31 किग्रा या 0.00054 यू के बराबर होता है, अर्थात प्रोटोन का द्रव्यमान 1 इकाई और आवेश +1 होता है.

प्रोटोन की संख्या:

तत्व संख्या तत्व वर्ग में तत्व के सिम्बल के उपर बाएं कोने में लिखा होता है. परमाणु संख्या से आपको किसी तत्व के एक परमाणु में कितने प्रोटन्स है यह ज्ञात होता है जैसे B की परमाणु संख्या 5 होती है इसलिए उसमे 5 प्रोटन्स होते है।

प्रोटोन की विशेषताएं:

  • प्रोटोन एक धनात्मक विघुत आवेशयुक्त मूलभूत कण है।

 

  • परमाणु के नाभिक में न्यूट्रॉन के साथ पाया जाता है।

 

  • प्रोटोन बस हाइड्रोजन में अकेला पाया जाता है, अन्य परमाणु में वह न्यूट्रॉन के साथ पाया जाता है।

 

  • एक प्रोटोन का द्रव्यमान न्यूट्रॉन के सामान होता है परन्तु इलेक्ट्रान के द्रव्यमान से 1840 गुना अधिक होता है।

 

  • प्रकृति में या प्रयोगशाला में बने प्रत्येक तत्व में कम से कम एक प्रोटोन होता है।

निष्कर्ष (प्रोटोन की खोज किसने की) :

यूजीन गोल्दस्टीन ने 1886 में परमाणु के नाभिक में धनात्मक कण अतः प्रोटोन कण होने का अनुमान लगाया था परन्तु इन्होने प्रोटोन की स्पष्ट जानकारी नही दी थी। 1920 में रदरफोर्ड ने अ[ने कोशिशो से किये गये प्रयोगों के माध्यम से प्रोटोन की स्पष्ट जानकारी दी।  इस प्रकार आज हमने आपको ‘प्रोटोन की खोज किसने की’ के विषय में बताया आशा करते है आपने इसे ध्यानपूर्वक पढ़ा होगा।

FAQ:

प्रोटोन की खोज यूजीन गोल्डस्टीन ने की या रदररोफोर्ड ने?

यूजीन ने प्रोटोन होने का अनुमान लगाया तथा रोफार्ड ने प्रोटोन ने प्रयोगों के माध्यम से प्रोटोन की स्पष्ट जानकारी दी।

प्रोटोन किसमें अकेला पाया जाता है?

हाइड्रोजन में।

प्रोटोन का आवेश कितना होता है?

आवेश= 1.6×10^-19 कूलाम।

प्रोटोन को किस चिन्ह के द्वारा दर्शाया जाता है?

p+

Leave a Comment