NFT Kya Hai? What is NFT in Crypto? Non Fungible Token का किस तरह का व्यवहार है? NFT in Hindi

नमस्कार दोस्तों, दुनिया तेजी से आगे जा रहा है और प्रयुक्ति बिया भी दिन भर दिन और ज्यादा उन्नत हो रहा है। हाल ही में कुछ साल पहले ही इंटरनेट का एक नया प्रयुक्ति विकसित हुआ था जिसे Blockchain कहा जाता है और इस Blockchain की एक अंश है NFT। 

NFT एक नया टेक्नॉलजी है जिसके वारे में बहुत ही काम लोग जानते हैं। आज हम इस लेख में NFT के वारे में आपको समझाने की कोशिस करेंगे। इस लेख में आप NFT Kya Hai? What is NFT in Hindi? Non Fungible Token का किस तरह का व्यवहार है? जान पाएंगे। तो NFT का एक विस्तृत ज्ञान पाने के लिए इस लेख को अंतिम तक जरूर पढ़ें। 

इसे भी पढ़े

NFT Kya Hai? NFT क्या है? What is NFT in Crypto

NFT Kya Hai

NFT अथवा Non-Fungible Token जिसका हिन्दी अर्थ अपुरणीय टोकन है जो अद्वितीय है और जिसका स्थान कोई भी दूसरा चीज नहीं ले सकता। NFT को डिजिटल लेजर मैं स्टोर किया जाता है। NFT के बारे मैं समझने से पहले लेजर का मतलब समझ लेते हैं। लेजर 1 तरह का अकाउंट होता है जहां पर हर 1 ट्रांजेक्शन का डिटेल्स लिखा हुआ रहता है। डिजिटल लेजर मैं क्रिप्टो की हर 1 ट्रांजेक्शन लिखा रहता है।

NFT के जरिए हम ऐसे तरह के डिजिटल कला को प्रोटेक्ट कर सकते हैं जिससे उसकी ओनरशिप पर कोई आंच न आए। आम तौर पर हम देखते हैं की जब कभी भी कोई फोटो, वीडियो या म्यूजिक आता है लोग उसे कॉपी करने की कोसिस करते हैं। लेकिन NFT पर वह आर्ट को 1 बार रजिस्टर कर लेने से ब्लॉकचैन पर उस NFT का ओरिजिनल निर्माता के बारे मैं हमेशा के लिए सेव हो जाता है ताकि भविष्य मैं अगर कोई भी us आर्ट को कॉपी कर तो भी ब्लॉकचेन मैं वह आर्ट का ऑनर सिर्फ और सिर्फ उसका निर्माता ही रहेगा जब तक की निर्माता खुद्से वह आर्ट किसी और को न दे दे।

 

NFT और Crypto कैसे अलग है?

एनएफटी (NFT) और क्रिप्टो(Crypto) वास्तव में अलग हैं। प्रत्येक एनएफटी में एक अद्वितीय डिजिटल हस्ताक्षर होता है, जिससे इन एनएफटी के लिए दूसरे के लिए आदान-प्रदान करना या दूसरों में से किसी एक के बराबर बनना असंभव हो जाता है और इसलिए उन्हें अपूरणीय माना जाता है।

NFT को किस तरह व्यवहार किया जा रहा है?

प्रमुख रूप से निम्नलिखित चीजों में NFT का बहुल व्यवहार हो रहा है;

संग्रहणीय (Collectibles)

जैसे की लोग पुराने ऐतिहासिक चीजों को संग्रह कर के अपने पास रखते है, इसी तरह डिजिटल आर्ट के NFT को भी आज कल लोग संग्रह करना चाह रहे हैं। इसका सबसे मुख्य कारण ये है की उस आर्ट का कितना पैसा मिला था आखरी बार लोगो को पता रहता है। अगर वो आर्ट किसी बड़े एक्टर, एक्ट्रेस, गायक या चित्रकार जैसे लोग के द्वारा बनाया गया हो तो उसका मूल्य आसानी से बढ़ जाता है।

गेम 

ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी के मदद से ऐसे गेम बनाए गए हैं जो की पूरी तरह से ब्लॉकचैन पर आधारित हैं। ऐसे गेम मैं लोग NFT के मदद से इन गेम एसेट को खरीदी या बेचते हैं। उदाहरण के तौर पर गेम मैं जमीन की खरीदी जा सकती है। गेम मैं पेड़ पौधे, घर, दुकान, और अलग चीजें भी खरीदी जा सकती है।

वर्चुअल दुनिया

कुछ ऐसे भी डिस्कॉर्ड चैनल्स हैं जहां पर एंट्री लेने के लिए आपके पास उनका बताया हुआ NFT होना अनिवार्य है। वह NFT लोगो के लिए एंट्री पास का काम करता है। कुछ ऐसे कम्युनिटी के नाम हैं डिसेंट्रल लैंड, सैंड बॉक्स, स्टार एटलस, क्रिप्टो वॉक्सल्स इत्यादि। ऐसे कम्युनिटी को मेटावर्स भी कहा जाता है।

संगीत

संगीतकार NFT के मदद से अपने संगीतों को अलग लोगो को बेच रहे हैं। कोविड के दौरान म्यूजिक इंडस्ट्री जहां 85% तक रेवेन्यू लॉस कर गया था वहां जो संगीतकार NFT पर अपने गानों को बेच रहे थे तकरीबन $20 मिलियन की रेवेन्यू बनाया। इस साल फरवरी 28 को एक इलेक्ट्रिक डांस म्यूजिशियन 33 NFT को तकरीबन 12 मिलियन डॉलर मैं बेचा। 

फिल्म

2021 मार्च के महीने मैं एडम बेंजीन का 1 डॉक्यूमेंट्री क्लॉड लंजमान पहला ऐसा मूवी बना जिसका NFT के जरिए ऑक्शन किया गया। गॉडजिला वर्सस कांग मूवी का भी NFT के जरिए ऑक्शन होने की बाद चल रही है। केविन स्मिथ जो की एक जाने माने फिल्म निर्माता हैं, उन्होंने ये डिक्लेयर किया है की उनका आने वाला हॉरर मूवी किलरॉय वॉच हियर भी NFT पर रिलीज होगा।

कॉपीराइट

NFT होने का मतलब है आपके पास उस डिजिटल एसेट का अथॉरिटी सिर्फ ब्लॉकचैन पर है। किंतु सरकार NFT का होने पर आपको लीगल राइट्स ग्रांट नही करती। 

NFT के फायदे

  • NFT को ओनरशिप का प्रमाण के तरह व्यवहार किया जा सकता है। उपदहरण के लिए मान लेते हैं मैने 1 पेंटिंग बनाया और पेंटिंग के साथ साथ उसका NFT बना कर किसी को गिफ्ट कर दिया l गिफ्ट के कॉन्ट्रैक्ट मैं अगर मैं ये मेंशन कर दूं की इस पेंटिंग का NFT जिसके पास होगा वही इस पेंटिंग का असली ओवर कहलाएगा तो NFT ओनरशिप का प्रमाण बन सकता है।
  • ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी के कई तरह के व्यवहार है जैसे की 1 अच्छा चीज बिटकॉइन है। बिटकॉइन सबके पास 1 ही तरह का होता है। मान लीजिए मेरे पास 5 बिटकॉइन हैं और आपके पास भी 5 बिटकॉइन हैं इसका मतलब है हम दोनो के पास बिटकॉइन है। लेकिन NFT मैं ऐसा नहीं होता। NFT किसी 1 ही व्यक्ति के पास हो सकता है। इससे NFT का ऑथेंटिक होने का प्रमाण मिलता है। और इसे कॉपी नहीं किया जा सकता।
  • NFT का ट्रांसफर हो पाना बहत बड़ी सुविधा है। मान लेते हैं एक गेम है जिसके अंदर आपके पास कुछ जेम हैं। ये जेम आप किसी को भी भेज नही सकते अगर गेम भेजने का सुविधा न देता हो तो मगर अगर गेम ये कॉइन और जेम के जगह पर NFT व्यवहार करना सुरु कर दे तो गेम के बाहर भी लोग इसे ट्रांसफर कर सकते हैं। और उसका भी खरीदी बेची कर सकते हैं।

ये NFT के 3 बड़े फायदे हैं। अब NFT के बारे मैं होता आलोचना को देखते हैं।

NFT का आलोचना

  • NFT ब्लॉकचैन पर डिजिटल आर्ट को स्टोर नही करता। इसका सबसे बड़ा कारण है फाइल का साइज। NFT बस वो फाइल से जुड़े हुए यूनिक टोकन को स्टोर करता है।
  • NFT पर भले ही ओरिजिनल आर्ट को कोई और कॉपी न कर सके लोग उसी आर्ट के जैसा दिखने वाला नकली आर्ट खुद बना कर उसका NFT बेचते है। बहत लोग नकली आर्ट को असली समझ कर खरीद भी लेते हैं।

NFT कैसे खरीदा जाता है? और कहां पर स्टोर होता है?

ऐसे बहुत सारे मार्केटप्लेस हैं जहां से NFT खरीदा जा सकता हैं। ऐसे कुछ मार्केटप्लेस के नाम हैं –

  • सुपर रेयर
  • फाउंडेशन
  • माइंटेबल
  • ओपन सी
  • NBA टॉप शॉट
  • एक्सी इनफिनिटी
  • सो रेयर
  • बेनली
  • निफ्टी गेटवे
  • जोरा
  • डिसेंट्रालैंड
  • बैरिबल
  • द सैंडबॉक्स
  • मेकर्स प्लेस
  • जेप्टाग्राम

 

इस तरह के और भी स्टोर्स हैं जहा से NFT खरीदा जा सकता है। आपको बस 1 अकाउंट क्रिएट करना है और आप बहत सारे NFT को एक्सप्लोर कर सकते है। ऊपर जो स्टोर्स दिए गए हैं वहां पर NFT खरीदा जरूर जा सकता है लेकिन उसे अपने पास स्टोर करने के लिए 1 अलग अकाउंट की जरूरत पड़ती है। मेटामास्क नमक 1 अकाउंट अगर आप 1 बार बना लेंगे उसके अंदर आसानी से खरीदे गए NFT स्टोर कर के रख सकते हैं। 

NFT खरीदने के स्टेप

Step 1- मान लेते हैं आप ओपन सी से NFT खरीदने जा रहे हैं। ओपन सी खोलने के बाद प्रोफाइल सेक्शन मैं क्लिक करे।

Step 2- प्रोफाइल मैं क्लिक करने के बाद “get metamask” पर टैप करें। इससे आपको मेटामाक का 1 क्राइम एक्सटेंशन डाउनलोड करने को मिलेगा वह डाउनलोड करके इंस्टॉल कर लें

Step 3- मेटामास्क खोलने के बाद वहां पर अपना 1 वॉलेट क्रिएट करें। यह वही वॉलेट है जहां आपका NFT स्टोर होके रहेगा।

Step 4- मेटामास्क अकाउंट बनाते वक्त जो पारा प्रेस आपको याद रखने को कहेगा उसे कहीं सुरक्षित जगह पर लिख के रख लें क्यों की बस यही वो चीज है जिसके मदद से आप पासवर्ड रीसेट कर सकते हैं।

Step 5-अकाउंट बन जाने के बाद कनेक्ट टू ओपन सी पर क्लिक करे। उससे आपका मेटामास्क अकाउंट ओपन सी से लिंक हो जायेगा।

Step 6- ओपन सी के साथ मेटामास्क को लिंक करने के बाद आप ओपन सी पर कोई भी NFT खरीद सकते हैं। NFT खरीदने के लिए आपके पास ether होने चाहिए जो की आप कोई भी क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज से खरीद सकते हैं। NFT खरीदने के लिए 1 चार्ज भी लगता है जिसे गैस फीस कहा जाता है।

 

निष्कर्ष

वह दिन दूर नहीं जब इंटरनेट में Blockchain का ही राज होगा। यह नया टेक्नॉलजी इंटरनेट में एक क्रांति ले आएगा। इस क्रांति के चलते लाखों नया जॉब का संभावना भी दिखाई देता है। 

आपको ये लेख NFT Kya Hai? What is NFT in Hindi? Non Fungible Token का किस तरह का व्यवहार है? कैसा लगा हमे कमेंट्स करके जरूर बताएं और लेख को शेयर करना ना भूलें धन्यवाद। 

FAQ’s

NFT Full Form Kya Hai?

NFT का Full-Form Non-Fungible Token है। 

NFT का Meaning Kya Hai

NFT अथवा Non-Fungible Token जिसका हिन्दी अर्थ अपुरणीय टोकन है

इसे भी पढ़े

thehindisagar

TheHindiSagar हिंदी सागर Blog आप के लिए हमेसा Best Content लाता है। हमारा लक्ष लोगों को सूचनात्मक कंटेंट के माध्यम से सूचित करना जिसे वो समझ सके। हम Technology से लेके मनोरंजन तक, Politics से ले कर Business तक, खेल से लेके नौकरी तक की सुचना सबकुछ की खबर आपके पास लाने की निरंतर प्रयास कर रहे हैं।

Related Posts

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x