न्यूट्रॉन की खोज किसने की थी? तथा न्यूट्रॉन की खोज कब हुई थी?

हमारा आज का विषय न्यूट्रॉन के बारे में है। यह विषय सामान्य ज्ञान से जुदा हुआ विषय है जिसे सभी को इसकी जानकारी रहनी चाहिए आज हम आपको बतायंगे न्यूट्रॉन की खोज किसने की थी और कब की उससे पहले यह जानना जरुरी है की न्यूट्रॉन क्या है? तो आपकी जानकारी के लिए बता दें की न्यूट्रॉन एक आवेश रहित मूलभूत कण है जो परमाणु के नाभिक में प्रोटोन के साथ पाया जाता है, प्रोटोन और न्यूट्रॉन मिलकर परमाणु के नाभिक का निर्माण करते है।

न्यूट्रॉन की खोज किसने की थी ?

न्यूट्रॉन की खोज ब्रिटिश भौतिक वेज्ञानीक जेम्स चेडविक के द्वारा 1932 में की गई थी. उनके इस उपलब्धियों पर सन 1935 में भौतिक में नावेल प्राइस से सम्मानित किया गया।

जेम्स चैडविक का जन्म 20 अक्टूबर 1891 में इंग्लैंड के बोलिंगटन जगर में हुआ था, इन्होने अपनी शिक्षा मेनचेस्टर और कैम्ब्रिज विश्वविद्यालो में पूरी की थी. जब रदरफोर्ड ने प्रोटोन की खोज की थी तब चैडविक उन्ही के साथ प्रयोग कर रहे थे जब परमाणु के नाभिक में प्रोटोन का पता चला की नाभिक में धनवेश प्रोटोन है तो ये अनुमान लगाया गया की परमाणु के नाभिक में उदासीन कण भी उपस्थित होंगे परमाणु के अंदर ऋणात्मक आवेश से युक्त इलेक्ट्रान और धनात्मक आवेशित प्रोटोन होते है। अंत में 24 जुलाई वर्ष 1935 में इनकी मृत्यु हो गई।

न्यूट्रॉन की खोज कैसे हुई:

वैज्ञानिको को शुरुआत में सिर्फ इतना पता था की परमाणु के नाभिक में केवल प्रोटोन उपस्थित होता है और इलेक्ट्रान इसके चारो तरफ चक्कर लगाता है। 1932 से पहले वैज्ञानिक मानते थे की किसी भी परमाणु का भार उसमे उपस्थित प्रोटोन के भार के बराबर होना चाहिए परन्तु जब ह्य्द्रोजें ओत्र हीलियम का द्रव्यमान की गणना की गयी तब कायदे की मुताबिक़ हीलियम परमाणु का द्रव्यमान हाइड्रोजन के द्रव्यमान का 2 गुना होना चाहिए, उन्होंने देखा की हीलियम परमाणु का द्रव्यमान हाइड्रोजन परमाणु के द्रव्यमान की तुलना से 4 गुना अधिक था। इन सब से वैज्ञानिको को समझ आया की परमाणु के नाभिक में प्रोटोन के अलावा कोई अन्य कण भी है इसलिए द्रव्यमान की गुणना दुगना गोने के बजाए अधिक हो रहा है।

न्यूट्रॉन की खोज किसने की थी_Atoms_molecule

इसका हल जेम्स चैडविक ने 1932 में न्यूट्रॉन ने निकाला, इन्होने न्यूट्रॉन की खोज कर दुनिया को बताया की परमाणु के नाभिक में प्रोटोन के अलावा न्यूट्रॉन कण भी पाया जाता है।

ये भी पढ़ें –

न्यूट्रॉन का आवेश:

न्यूट्रॉन एक उदासीन परमाण्विक कण है इसलिए इस पर शून्य आवेश का मान होता है यानि न्यूट्रॉन पर कोई आवेश नही होता है। न्यूट्रॉन हाइड्रोजन को छोड़कर हर परमाणु में मौजूद तटस्थ उप परमाणु कण होते है, न्यूट्रॉन उन पर ऋणात्मक या धनात्मक आवेश नही रखते है।

न्यूट्रॉन का सूत्र:

इसका सापेक्ष द्रव्यमान 1.0086 amu होता है, जो हाइड्रोजन परमाणु द्रव्यमान के बराबर ही है। न्यूट्रॉन का वास्तविक द्रव्यमान 1.67493×10-27 किग्रा होता है जो इलेक्ट्रान के द्रव्यमान से लगभग 1839 गुना अधिक है।

न्यूट्रॉन किस्से बनता है:

न्यूट्रॉन तीन कवोर्कसे मिलकर बना होता है जिसमे दो डाउन कवोर्क होते है ओर एक अप कवार्क होता है, न्यूट्रॉन में कोई चार्ज नही होता है यह तटस्थ होता है. यह एक साधारण हाइड्रोजन को छोड़कर प्रत्येक परमाणु के नाभिक में पाया जाता जाता है।

न्यूट्रॉन का उपयोग:

न्यूट्रॉन डॉक्टर के पर्ची द्वारा मिलने वाली दवा है जो इंजेक्शन के रूप में उपलब्ध है यह दवाई मेग्लोबास्टिक, एनीमिया, डाय्बेटिक के उपचार के लिए इस्तमाल की जाती है. इसका इस्तमाल कुछ अन्य स्थतियों के लिए भी किया जा सकता है।

न्यूट्रॉन की विशेषताएं:

  • इसका द्रव्यमान प्रोटोन के द्रव्यमान के लगभग बराबर होता है।
  • यह एक उदासीन कण है अर्थात इसका आवेश शून्य होता है।
  • एक न्यूट्रॉन का भार लगभग 1.675×10-27 होता है.
  • परमाणु में भी न्यूट्रॉन नाभिक में होता है।

निष्कर्ष  (न्यूट्रॉन की खोज किसने की थी) :

एक परमाणु ने न्यूट्रॉन की संख्या की गुणना परमाणु द्रव्यमान से परमाणु संख्या घटाकर की जा सकती है इन दोनों संख्याओ को आर्वत में पाया जा सकता है। एक न्यूट्रॉन एक घातीय रूप से छोटा कण है जिसमे विघुत आवेश नही है. आपकी जानकारी के लिए बता दें की इलेक्ट्रान,प्रोटोन और न्यूट्रॉन में से सबसे छोटा न्यूट्रॉन है। इसी तरह इस लेख के जरिये हमने “न्यूट्रॉन की खोज किसने की थी, तथा न्यूट्रॉन की खोज कब हुई थी” की विशेष जानकारी इस लेख में दी है आशा करते होई आपने इसे ध्यानपूर्वक पढ़ा होगा।

FAQ:

न्यूट्रॉन की खोज किसने की थी?

जेम्स चेदविक।

न्यूट्रॉन की खोज कब हुई?

1832.

प्रोटोन इलेक्ट्रान और नयूतों में सबसे छोटा कोन होता है?

न्यूट्रॉन.

न्यूट्रॉन का आवेश कितना है?

शून्य(0)

Leave a Comment