इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है? इंट्राडे ट्रेडिंग से पैसे कैसे कमाए? इंट्रा डे कहां से सीखें?

क्या आप ट्रैडिंग में मनोनिवेश करने की सोच रहे हैं ? ट्रैडिंग की जगत में जाने के लिए पहले ट्रैडिंग से आधारित वैशिक ज्ञान जान लेना चाहिए क्यूँ की वैशिक ज्ञान के बिना आप के निवेश डूब सकते हैं। 

इस लेख में हम इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है? इंट्राडे ट्रेडिंग से पैसे कैसे कमाए? इंट्राडे ट्रेडिंग कहां से सीखें? जैसे विषय पर बताएं हैं। तो अगर आपका भी मन ही ट्रेडिंग सीखने का तो इस लेख को अंतिम तक जरूर पढ़ें। 

इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है? What is Intraday Trading in Hindi

ट्रेडिंग किसी भी प्रकार की एसेट को खरीदने और बेचने की गतिविधि है जिससे लाभ अर्जित किया जा सके। जब कोई ट्रेडर कोई भी एसेट को एक दिन के लिए खरीदता हैं और मार्केट क्लोज होने से पहले मुनाफा कमा के एसेट को बेच देता हैं, इस तरह के ट्रेडिंग को इंट्रा डे ट्रेडिंग कहते हैं।

ट्रेडिंग क्या है आप को तो पता ही होगा अगर नहीं पता तो हमारा ये पोस्ट पढ़िए और ट्रेडिंग के बारे में विस्तार में जानिए। 

इंट्राडे ट्रेडिंग से पैसे कैसे कमाए

 

इंट्राडे ट्रेडिंग से पैसे कैसे कमाए?

  1. अपने जोखिम को मापें: यह एक बुनियादी नियम है जिसका आपको इंट्राडे ट्रेडिंग में पालन करना चाहिए। उन नुकसानों की सीमा निर्धारित करें जिन्हें आप लेने को तैयार हैं। अपने आप से पूछें: आप एक व्यापार में कितना खोने को तैयार हैं?  
  2. सदैव गति के पक्ष में रहे: जब आप इंट्राडे ट्रेड करते हैं, तो एक कॉन्ट्रेरियन लॉन्ग-टर्म इन्वेस्टर की तरह न सोचें। स्टॉक की गति ऊपर या नीचे है नापें और उसके अनुसार ही ट्रेड करें। इंट्राडे ट्रेडिंग में गति के प्रवाह के साथ जाना महत्वपूर्ण है।
  3. टेक्निकल चार्ट: बेशक, आप टेक्निकल चार्ट के साथ कई इंट्राडे ट्रेडिंग निर्णय ले सकते हैं। एक इंट्राडे ट्रेडर के रूप में, आपको अपने दम पर कुछ बुनियादी तकनीकी चार्ट पढ़ने की क्षमता विकसित करने की आवश्यकता है।
  4. दोनों तरह से खेलें: यदि आप इंट्राडे ट्रेडिंग में पैसा कमाना चाहते हैं, तो आपको बाजार में दोनों तरह से ट्रेड करने के लिए तैयार रहना होगा। जब आप इंट्राडे ट्रेडों को बंद करने जा रहे हैं, तो कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप पहले खरीदते हैं या पहले बेचते हैं।
  5. एक ट्रेडिंग डायरी बनाए रखें: एक ट्रेडिंग डायरी हर सफल इंट्राडे ट्रेडर का गुप्त हथियार है। यह न केवल आपके ट्रेडों और ट्रेडों के तर्क का रिकॉर्ड है, बल्कि सीखने की प्रक्रिया भी है।

इंट्रा डे ट्रेडिंग करते समय ध्यान मैं रखें ये बातें

जब भी आप इंट्रा डे ट्रैडिंग में मनोनिवेश करते हैं हैं, निम्नलिखित बातों को हमेशा ध्यान में रखें;

सही समय मैं मार्केट मैं घुसना और निकल जाना

कोई भी स्टॉक पर ट्रेड सुरु करने से पहले स्टॉक प्राइस का ट्रेंड कैसा हैं पहले वो जानने को कोशिश करें। अगर आपको प्राइस का ट्रेंड पता होगा आप आसानी से ट्रेड मैं एंट्री और एग्जिट ले सकते हैं। उदाहरण के लिए, आप लाभ बुक करके या हानि बुक करके ट्रेड छोड़ सकते हैं।

हमेशा एक स्टॉप लॉस बनाएं

स्टॉप लॉस आपकी एग्जिट स्ट्रैटेजी का एक हिस्सा है। स्टॉप लॉस बनाकर आप संभावित नुकसान को कम कर रहे हैं। यदि आपका सोचा हुआ प्रॉफिट हिट होता है तो आप एक और स्टॉप लॉस बना सकते हैं।

पेनी स्टॉक पर कभी ट्रेड न करें

पेनी स्टॉक्स हाई रिटर्न देते हैं। लेकिन उनमें सबसे ज्यादा अस्थिरता है। स्टॉक ऑपरेटर हमेशा अपने पैसे के स्टॉक को उच्च मूल्य में डंप करते हैं और आम जनता उन शेयरों को खरीदती है और नुकसान ही उठाती है।

इंट्राडे ट्रेड के लिए सहायक इंडिकेटर

ट्रेंड और इंडिकेटर व्यापारी को बाजार की स्थिति जानने में मदद करते हैं।  अब हम कुछ प्रसिद्ध संकेतकों को सीखने का प्रयास करेंगे।

  1. सामान्य गति (Moving Average)- हम सभी जानते हैं कि औसत क्या है। मूविंग एवरेज भी उसी तरह का होता है लेकिन उससे थोड़ा ज्यादा इनफॉर्मेशन 1 स्टॉक के बारे मैं देता हैं। यह स्टॉक की कीमत में शॉर्ट टर्म उतार-चढ़ाव को जानने में मदद करता है। मूविंग एवरेज 1 समय मैं स्टॉक प्राइस मैं हुआ उतार चढ़ाव को मापने के लिए व्यवहार होता हैं।
  2. बोलिंगर बैंड (Bollinger Bands)- यह ट्रेडर के लिए एक बहुत आवश्यक उपकरण है जो समय के साथ स्टैंडर्ड डिविएशन जानने में मदद करता है। इस इंडिकेटर में 3 रेखाएँ होती है, पहला है मूविंग एवरेज, दूसरा है अपर लिमिट और तीसरा है लोअर लिमिट।
  3. मोमेंटम ओस्किल्लाटर्स (Momentum Oscillators)- स्टॉक की कीमतें बहुत अधिक अस्थिर हैं। यह इंडिकेटर ट्रेडर को यह जानने में मदद करता है कि किसी निश्चित अवधि में स्टॉक की कीमत बढ़ेगी या गिरेगी।
  4. सापेक्ष शक्ति सूचकांक (RSI)- आरएसआई ट्रेडर को यह निर्धारित करने में मदद करता है कि किसी निश्चित अवधि के भीतर स्टॉक की कीमत किस हद तक बदल सकती हैं।

इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए स्टॉक कैसे चुनें?

ट्रेड शुरू करने से पहले आपको यह सीखना चाहिए कि आप जिस स्टॉक का ट्रेड करेंगे, उसे कैसे चुनें। हम नीचे एक गाइड दे रहे हैं। हमेशा जांचें कि क्या निम्नलिखित चीजें वो स्टॉक मैं है या नहीं।

व्यापार करने के लिए हमेशा अत्यधिक लिक्विड स्टॉक चुनें। आपको स्मॉल और मिड कैप कंपनियों के शेयरों को चुनना चाहिए। वे अत्यधिक liquid हैं। यदि आप ऐसा स्टॉक चुनते हैं जो लिक्विड नहीं है तो आप एक दिन के भीतर लाभ बुक करने में सक्षम नहीं होंगे।

खरीदने से पहले जांच लें कि स्टॉक कितना अस्थिर है। मध्यम अस्थिरता वाले स्टॉक ट्रेडिंग उद्देश्य के लिए एकदम सही हैं। उच्च अस्थिरता उच्च जोखिम के साथ भी आती है। ऐसा स्टॉक चुनने की कोशिश करें जो थोड़ा अस्थिर हो लेकिन 2% से अधिक न हो।

आप जो स्टॉक उठा रहे हैं, उसका ट्रेड वॉल्यूम बहुत अधिक होना चाहिए। उच्च trading volume का अर्थ है उच्च demand या उच्च supply, उच्च volume अस्थिरता के साथ आती है जहां आप सबसे अच्छा लाभ कमाएंगे।

इंट्राडे ट्रेडिंग के क्या लाभ हैं?

  • यदि आप अपनी पोजीशन को लाइवरेज नहीं करते हैं तो इंट्राडे जोखिम रहित है। कम प्रिंसिपल कम जोखिम के साथ आता है। लेकिन कीमत में प्रतिशत परिवर्तन आपको पर्याप्त प्रॉफिट देगा।
  • इंट्राडे ट्रेडों में ब्रोकरेज फीस इतनी कम होती है कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता जब आप इसकी तुलना अपने द्वारा किए गए रिटर्न से करते हैं।
  • इंट्राडे ट्रेड बहुत अधिक लाभ देते हैं। इंट्राडे ट्रेड आपको दैनिक आधार पर रिटर्न देते हैं जिसका अर्थ है कि आप स्टॉक की कीमत में हर मूवमेंट के लिए लाभ कमा रहे हैं।
  • आप तेजी या मंदी के बाजार दोनों में लाभ कमाते हैं। बुलिश मार्केट आपको डायरेक्ट प्रॉफिट देता है। मंदी के बाजार में आप शेयरों को शॉर्ट( short ) कर सकते हैं और शेयर की गिरती कीमत में भी लाभ कमा सकते हैं।

आप इंट्रा डे ट्रेडिंग कहाँ से सीख सकते हैं?

इंट्राडे ट्रेडिंग के बारे में जानने के लिए हम आपको कुछ बेहतरीन यूट्यूब चैनल दे रहे हैं। कृपया वे सभी वीडियो देखें जो यह चैनल अपलोड करते हैं। सभी वीडियो देखने से आपको न केवल यह पता चलेगा कि शेयर मार्केट कैसे काम करता है बल्कि यह भी कि आप एक सफल इंट्राडे ट्रेडर कैसे बन सकते हैं।

  1. अभिषेक कर- https://www.youtube.com/c/AbhishekKar
  2. प्रांजल कामरा- https://www.youtube.com/c/pranjalkamra 
  3. CA रचना रानडे- https://www.youtube.com/c/rachanaphadke
  4. मलकान व्यू- https://www.youtube.com/c/Malkansview1

इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है? इंट्राडे ट्रेडिंग से पैसे कैसे कमाए? – निष्कर्ष

इंट्रा डे ट्रेडिंग वास्तव में तभी लाभदायक हो सकता है जब आप लगातार, कड़ी मेहनत और हर दिन नई चीजें सीखने के लिए तैयार हों। एक सफल इंट्राडे ट्रेडर बनने के लिए इस लेख “इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है? इंट्राडे ट्रेडिंग से पैसे कैसे कमाए? इंट्राडे ट्रेडिंग कहां से सीखें?” में दिए गए सभी स्टेप का पालन करें। हम आपको आपकी इंट्राडे ट्रेडिंग यात्रा के लिए शुभकामनाएं देते हैं।

Leave a Comment