इंटरनेट क्या है? इंटरनेट का उपयोग और इंटरनेट का इतिहास हिंदी में

21वी शदी का अगर सबसे महान आविष्कार क्या है गवेषणा किया जाए तो निष्कर्ष में उत्तर “इंटरनेट” ही आएगा। एक हिसाब से कहा जाए तो आज का दुनिया इंटरनेट से ही चल रहा है। आज विश्व के हर एक इंसान किसी ना किसी चीज में इंटरनेट पर निर्भर करता है। अगर कुछ घंटों के लिए इंटरनेट बंद्द हो जाए तो कुछ देर बाद दुनिया चलना ही बंद्द हो जाएगा। आज मानव समाज हर किसी चीज के लिए इंटरनेट पर प्रत्यक्ष रूपं से निर्भरशील है। अगर आप हमारा यह लेख पढ़ पा रहे हैं तो इसका श्रेय सिर्फ ही सिर्फ इंटरनेट को ही जाता है। 

आज हम इंटरनेट को ले कर एक विशेष लेख आपके लिए लाएं हैं। आप इस लेख में “इंटरनेट क्या है? इंटरनेट का उपयोग और इंटरनेट का इतिहास हिंदी में” जान पाएंगे। इंटरनेट की एक गभीर जानकारी पाने के लिए इस लेख को अंतिम तक जरूर पढ़ें। 

इंटरनेट क्या है? (What is Internet in Hindi)

इंटरनेट क्या है? इंटरनेट एक विशाल नेटवर्क है जो दुनिया भर के कंप्यूटरों को जोड़ता है। लोग इंटरनेट के माध्यम से, और एक इंटरनेट कनेक्शन के साथ कहीं से भी और किसी भी जानकारी साझा कर सकते हैं और संचार कर सकते हैं। यह सब आप एक कंप्यूटर को इंटरनेट से जोड़कर कर सकते हैं, जिसे ऑनलाइन जाना भी कहते हैं। जब कोई कहता है कि कंप्यूटर ऑनलाइन है, तो यह कहने का एक और तरीका है कि यह इंटरनेट से जुड़ा है।

जैसे पहले के जमाने में अगर आप अपने किसी दोस्त को कुछ पूछना या बताना चाहते थे तो आपको खत लिखना पड़ता था। लेकिन आज के जमाने में आपको न खत लिखना पड़ेगा ना ही घर के बाहर कदम रखना पड़ेगा। आपके फोन से ही आप इंटरनेट के मदद से ये काम कर पाएंगे। जैसे की हमने बताया इंटरनेट संचार करने का एक आधुनिक मध्यम हैं, ये बस खत लिखने के लिए व्यवहार नहीं होता बल्कि आपके मन पसंद बॉलीवुड अभिनेता के वीडियो देखने से ले कर किसी अपने को पैसे भी भेज सकते हैं।

अगर आपको फिर भी समझ में नहीं आया की इंटरनेट क्या है तो आप ये वीडियो देख के समझ सकते है।

इंटरनेट की खोज किसने की थी?

कंप्यूटर वैज्ञानिक विंटन सेर्फ़(Vinton Cerf) और बॉब कान (Bob Kahn) को इंटरनेट संचार प्रोटोकॉल का खोज किया था। जिसे हम आज इंटरनेट के नाम से जानते हैं।

इंटरनेट का फुल फॉर्म क्या हैं?

इंटरनेट (INTERNET) का फुल फॉर्म हैं इंटर कनेक्टेड नेटवर्क (Interconnected Network) जिसका मतलब हैं एक ऐसा नेटवर्क जहां पर सब नेटवर्क एक दूसरे से कनेक्टेड हों।

आपने इंटरनेट का मतलब और कैसे इंटरनेट को बनाया गया तो समझ लिया। अभी हम जानेंगे इंटरनेट का उपयोग और इंटरनेट का इतिहास हिंदी में

इंटरनेट का इतिहास हिंदी में (History of Internet in Hindi)

1960 के दशक मैं US के सरकार ने अलग अलग डिपार्टमेंट में संचार करने के लिए इंटरनेट का अबिस्कार किया था। इस समय मैं ARPANET (Advanced Research Project Agency Network) का गठन किया गया था जिसे हम आज इंटरनेट के नाम से जानते हैं। ये नेटवर्क पर जो कोई होंगे वे आपस में किसी भी प्रकार का संचार कर सकते थे। संचार करने मैं आसानी हो जाने के वजह से इसे स्कूल, कॉलेज और अन्य रिसर्च एजेंसी व्यवहार करना सुरु कर चुके थे। लेकिन आम जनता के पास ये अभी आया नहीं था। 1 जनवरी 1983 को इंटरनेट का जन्मदिन मना जाता हैं।

इंटरनेट क्या है? और इंटरनेट का इतिहास हिंदी में

1960 से 1990 तक US सरकार ने इस टेक्नोलॉजी के मदद से US के हर एक रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन को जोड़ने की पूरी कोशिश करी। 1990 के समय मैं वर्ल्ड वाइड वेब (WWW) का अविष्कार हुआ जो की एक बहुत बड़ा नेटवर्क था और जो कोई भी इस नेटवर्क मैं होते थे वे आपस मैं आसानी से संचार कर पाते थे। और धीरे धीरे ये नेटवर्क मैं पूरी दुनिया जुड़ते चली गई और आज के समय मैं हम इसी नेटवर्क को इंटरनेट कहते हैं।

भारत में इंटरनेट की शुरुआत कब हुई?

15 अगस्त को भारत मैं इंटरनेट विदेश संचार निगम, लिमिटेड के द्वारा लॉन्च किया गया था। 1998 मैं सरकार ने इंटरनेट सेवा प्रदान करने के लिए प्राइवेट कंपनियों को इजाजत दे दी थी। जब VSNL ये सेवा देने के लिए मोनोपॉली कर रहा था तब इंटरनेट तकरीबन 10 दिन के लिए 9.5 KBPS के स्पीड के साथ 5000 रुपए के आए पास पड़ता था। 2004 मैं सरकार ने ब्रॉडबैंड कनेक्शन का आरंभ किया। 2005 के बाद से इंटरनेट के यूजर देश भर मैं बढ़ते ही जा रहे हैं।

भारत मैं इंटरनेट का कीमत विश्व भर मैं सबसे कम मिलने वाले देशों मैं से हैं। 2020 मैं हुए एक स्टडी के हिसाब से भारत मैं अभी 749 मिलियन एक्टिव इंटरनेट यूजर्स हैं और 2040 तक ये संख्या 1.5 बिलियन यूजर्स तक बढ़ जाने की संभावना हैं।

वर्ल्ड वाइड वेब क्या है?

वर्ल्ड वाइड वेब एक ऐसी नेटवर्क हैं जहां पर विश्व भर के लोग जुड़े हुए हैं। WWW नेटवर्क मैं लोग वेबसाइट के मदद से जुड़ते हैं। संचार करने के लिए e–mail, फेसबुक, इंस्टाग्राम, वेबसाइट ऐसे बहुत सारे टेक्नोलॉजी का मदद लिया जाता हैं। 

वेबसाइट कैसे बनता हैं? 

वेबसाइट HTML नामक एक फाइल से बनाया जाता हैं। HTML एक इस तरह का कोड होता है जिसे इंटरनेट ब्राउजर जैसे गूगल क्रोम, ओपेरा मिनी, फायरफॉक्स पढ़ कर के यूजर को दिखा सकते हैं की HTML कोड बनाने वाला व्यक्ति आपको क्या बताना चाहता हैं। इंटरनेट के ऊपर आपको जो कोई भी वेबसाइट दिखता है वो सह HTML से ही बनाए गए हैं। HTML का फुल फॉर्म हैं हाइपर टेक्स्ट मार्कअप लैंग्वेज। HTML के मदद से आप भी अपना वेबसाइट बना सकते हैं।

इंटरनेट का उपयोग कहाँ किया जा सकता है?

जैसे की हमने पहले भी बताया इंटरनेट का उपयोग करके आप संचार कर सकते हैं, इंटरनेट बस संचार करने तक प्रतिबंधित नहीं है बल्कि इंटरनेट से और भी काम किए जा सकते हैं जिसके बारे मैं हम नीचे बता रहे हैं।

  • ईमेल – ई मेल को इलेक्ट्रॉनिक मेल भी कहा जाता हैं। ई मेल पहले के समय मैं डाक का काम करता था वही अब इंटरनेट के मदद से घर बैठे कर देता हैं। ईमेल एक ऐसी सुविधा है जिससे आपको बस अन्य व्यक्ति का ईमेल एड्रेस जानना हैं उसके बाद आप उन्हें न केवल टेक्स्ट, बल्कि फोटो, वीडियो, डॉक्यूमेंट और दूसरी फाइल भी भेज सकते हैं। बड़े बड़े कंपनियों मैं ऑफिशियल काम करने के लिए ईमेल का व्यवहार किया जाता हैं।
  • ऑनलाइन शॉपिंग – इंटरनेट आपको घर बैठे शॉपिंग करने मैं मदद करता हैं। वेबसाइट जैसे की Amazon.in, Flipkart.com, myntra.com अपने वेबसाइट मैं हर तरह के प्रोडक्ट को अपलोड करते हैं। आपको बस उनके वेबसाइट मैं एक अकाउंट ओपन करना हैं और आप वहां जितने प्रोडक्ट होते हैं उसमे से कुछ भी घर मांगा सकते हैं।
  • रोजगार – इंटरनेट आने के बाद रोजगार के नए मध्यम खुलने लग गए। इंटरनेट से जुड़े हुए जॉब जैसे की वेबसाइट डिजाइन, वेब डेवलपमेंट, मशीन लर्निंग, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, ब्लॉक चैन ऐसे कई नए नए टेक्नोलॉजी जो इंटरनेट से चलते हैं, इन्हे चलाने के लिए एक्सपर्ट की जरूरत पड़ती हैं, और जिन्हे ये सब आता है वे घर बैठे बहत पैसा भी कमाते हैं।
  • एजुकेशन – Covid आने के बाद एजुकेशन सेक्टर भी ऑनलाइन आने लगा हैं। शिक्षा के लिए लोगो को दूसरे जगह जाना पड़ता हैं। लेकिन covid के समय मैं इस सेक्टर मैं इनोवेशन हुआ। लोग ऑनलाइन पढ़ने और पढ़ने लग गए। यूट्यूब, Unacademy, ByJu जैसे प्लेटफॉर्म जहां पर टीचर ऑनलाइन हीं आपको रियल टाइम मैं पढ़ाएगा आप डाउट तक पूछ सकते हैं। 
  • कम्युनिकेशन – आज कल अगर आप अपने दोस्त के साथ बात करना चाहे जो दूर कहीं अलग देश, या राज्य मैं रहता हो बड़ी ही आसानी से वीडियो कॉल के माध्यम से आप बात कर सकत हैं। आपके फोन मैं जो कैमरा होता हैं, उसके मदद से आप अपने दोस्त को दिखेंगे और वे आपको दिखेंगे। ऐसी टेक्नोलॉजी के बारे मैं आज से 20 साल पहले कोई सोच भी नहीं सकता था और इंटरनेट आने के बाद सब बदल गया।

ये तो हमने कुछ ऐसी चीजों के बारे मैं आपको बताया जो हर किसी के दिनचर्या मैं हीं आ जाते हैं, लेकिन इसके अलावा मेडिकल फील्ड मैं इंटरनेट के मदद से ऑपरेशन तक होते हैं, इंटरनेट के मदद से आप घर बैठे अपने दुकान मैं लगे हुए कैमरा के मदद से दुकान मैं क्या हो रहा हैं वो देख सकते हैं। इंटरनेट के मदद से आप कहीं भी कभी भी कोई भी बुक पढ़ सकते हैं। आप कभी भी कहीं भी इंटरनेट से न्यूज जान सकते हैं। ऐसे बहुत सारे काम आप इंटरनेट के मदद से कर सकते हैं जो की बिना इंटरनेट से आप करना चाहे तो बहुत परेशानी से गुजरना पड़ेगा।

इंटरनेट के प्रकार? इंटरनेट का सेवा कैसे ली जा सकती हैं?

इंटरनेट चलाने के बहुत सारे प्रक्रिया हैं जिनमे से आपको जो सुविधा लगे आप उसे चुनें।

ज्यादातर इंटरनेट 3 तरह से व्यवहार किया जाता हैं।

ब्रॉडबैंड कनेक्शन

ब्रॉडबैंड बहुत ही तेज़ इंटरनेट सुविधा के लिए व्यवहार किया जाता हैं। ब्रॉडबैंड दो टाइप के होते हैं एक होता है वायर्ड और दूसरा है वायरलेस ब्रॉडबैंड। अगर आप वायरलेस ब्रॉडबैंड का उपयोग कर रहे हैं, तब भी आपको अपने घर में इस कनेक्शन का उपयोग करने के लिए अपने स्मार्टफोन को अपने राउटर के वाईफाई से कनेक्ट करना होगा।। ब्रॉडबैंड का मतलब ही यही होता है की इसमें बैंड की विस्तृत श्रृंखला समर्थित हैं।

ब्रॉडबैंड कनेक्शन लगाने के लिए आपके लोकेलिटी मैं जो भी कंपनियां हैं उनके ऑफिस मैं जाएं और ब्रॉडबैंड कनेक्शन लेने के लिए बताएं। उनके कर्मचारी आपके घर आकर ब्रॉडबैंड कनेक्शन लगा कर जाएंगे। ब्रॉडबैंड कनेक्शन लेना भारत मैं आज के दिन बहुत ही सस्ता हो गया हैं। तकरीबन हर एक कंपनी 500 से लेके 700 रुपए मैं एक महीने के लिए असीमित इंटरनेट का सुविधा दे देते हैं। ब्रॉडबैंड इंडस्ट्री मैं रिलायंस जियो सबसे सस्ता इंटरनेट की सेवा दे रहा हैं। 

सैटेलाइट कनेक्शन

भारत मैं सैटेलाइट कनेक्शन ज्यादा लोग व्यवहार नहीं करते हैं। ये टेक्नोलॉजी अभी मार्केट मैं नया हैं। Elon Musk के कंपनी Neuralink अभी US मैं ये सेवा दे रही हैं। Airtel भी UK की 1 कंपनी के साथ मिल के ये टेक्नोलॉजी पर काम कर रहा हैं। आने वाले समय मैं भारत मैं ये टेक्नोलॉजी का आना आश्चर्यजनक नहीं होगा।

सेल्यूलर कनेक्शन

पहले से समय मैं SIM जो की फोन के अंदर लगाने से हम किसी को कॉल कर के बात कर सकते थे आज के समय मैं उसी SIM के मदद इंटरनेट भी चलाया जाने लगा हैं। इस प्रक्रिया से भारत मैं सबसे ज्यादा इंटरनेट चलाया जाता हैं। भारत मैं ये टेक्नोलॉजी बहुत ही सस्ता हैं। पूरे विश्व भर मैं भारत से ज्यादा पैसा देना पड़ता हैं इंटरनेट का सेवा लेने के लिए। माना जाता हैं इंटरनेट इन sasa होने के वजह से भारत मैं आने वाले समय मैं बहुत सारे इंटरनेट कंपनियां खुल सकती हैं। रिलायंस जियो इस मामले मैं भी सबसे आगे हैं। रिलायंस भारत मैं सबसे अफोर्डेबल प्राइस मैं इंटरनेट और फ्री कॉलिंग का सेवा देता हैं।

इंटरनेट कैसे चलाया जाता है?

इंटरनेट चलाने के लिए ब्राउजर और एप्लिकेशन होते हैं। ब्राउजर मैं आप मन चाहे वेबसाइट खोल सकते हैं जब की एक सॉफ्टवेयर सिर्फ एक तरह का काम करने के लिए बनाया गया होता हैं।

  • गूगल क्रोम (Google Chrome)
  • ओपेरा मिनी (Opera Mini)
  • ब्रेव ब्राउजर (Brave Browser)
  • मोज़िला फायरफॉक्स (Mozila Firefox)

कुछ गिने चुने नाम हैं जिन्हे बहुत सारे लोग व्यवहार करते हैं।

ये भी पढ़ें – 

वायु प्रदूषण क्या हैं? वायु प्रदूषण के कारण, प्रकार क्या क्या हैं?

वीजा क्या है? वीजा की जानकारी, वीजा अप्लाई कैसे करे?

इंटरनेट क्या है? – निष्कर्ष

अमेरिकन अभिनेता और गायक Kevin Spacey का मानना है की “इंटरनेट कनेक्शन और एक विचार वाला कोई भी व्यक्ति एक दर्शक विकसित कर सकता है”

आज इंटरनेट की वजह से कई कलाकार अपने कला का प्रदर्शन कर के मशहूर हो चुके हैं। इंटरनेट में आप प्रति दिन एक एक नई कलाकार आविष्कार कर सकते हैं। कलाकार को छोड़ कर दूसरे कौशल की व्यक्तित्व भी इंटरनेट की वजह से नाम कमा रहे हैं। अगर आपके पास एक मोबाईल है और उसमे इंटरनेट कनेक्शन है तो ऐसा कोई भी चीज नहीं है जो आप नहीं सिख सकते या जान सकते। इंटरनेट का सही उपयोग आपको और दुनिया को बदल सकता है और यही मकसद है इंटरनेट की आविष्कार के पीछे। 


इंटरनेट का प्रभाव आपके जीवन में कैसा पड़ा हमे कमेंट्स करके जरूर बताएं और इस लेख “इंटरनेट क्या है? इंटरनेट का उपयोग और इंटरनेट का इतिहास हिंदी में” को शेयर करना ना भूलें धन्यवाद।

thehindisagar

TheHindiSagar हिंदी सागर Blog आप के लिए हमेसा Best Content लाता है। हमारा लक्ष लोगों को सूचनात्मक कंटेंट के माध्यम से सूचित करना जिसे वो समझ सके। हम Technology से लेके मनोरंजन तक, Politics से ले कर Business तक, खेल से लेके नौकरी तक की सुचना सबकुछ की खबर आपके पास लाने की निरंतर प्रयास कर रहे हैं।

Related Posts

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x