एयरफोर्स की नौकरी कितने साल की होती है? भारतीय वायु सेना के बारे में जानकारी

किसी भी देश के लिए उसकी जल, थल, और वायु सेना सबसे महत्वपूर्ण होती है। क्योंकि यही सेनाएं पड़ोसी देशों के आक्रमण से किसी देश की रक्षा करती हैं। और इन सेनाओं में कार्य करना किसी भी देश के नागरिकों के लिए गर्व की बात होती है। क्योंकि अपने देश के लिए कुछ करना एक नागरिक की सबसे पहली ड्यूटी मानी गई है। बहुत सारे विद्यार्थियों का यह सपना होता है  की वो अपने देश की सेवा करने के लिए अपने देश की रक्षा करने के लिए सेना में अपनी सेवा प्रदान करे।

इस पोस्ट में हम आपको भारत की वायु सेना के बारे बताएंगे की वायु सेना में जाने के लिए क्या योग्यता चाहिए? एयरफोर्स की नौकरी कितने साल की होती है? कितनी सैलरी मिलती है? और भी कुछ जानकारियां हम आपको इस पोस्ट में प्रदान करेंगे तो आप शुरू से अंत तक हमारे साथ बने रहे ताकि आपको सारी जानकारी मिल सके।

Table of Contents

भारतीय वायु सेना एयरफोर्स की नौकरी कितने साल की होती है?

वायु सेना मुख्यालय पश्चिम कमांड ने अपने सभी स्टेशन कमांडर से 17 मई 2020 तक फीडबैक मांगा ताकि इस रिपोर्ट को एयर ऑफिसर कॉम्डिंग इन चीफ को सौंपा जा सकें। वायु सेना मुख्यालय पश्चिम कमांड ने यह फीडबैक मांगा की पता किया जाए की पीछे के 5 सालो में किस उम्र के बाद सैनिक नौकरी से रिटायर्ड हो रहे हैं।

तो इस सर्वे से यह जानकारी मिली की 20 साल की नौकरी के बाद सैनिक नौकरी से रिटायर्ड हो रहे हैं। रिटायर्ड होने के बाद सैनिक सिविल सेवा, बैंक, रेलवे या अन्य कोई सरकारी नौकरी प्राप्त कर रहे हैं। तो इस तरह इस रिपोर्ट से यह साबित हो गया की वायु सेना की नौकरी 20 सालो की होती है। कुछ पदो मे 16 साल की नौकरी के बाद भी रिटायर्ड किए जा सकते हैं।

भारतीय वायु सेना में जाने के लिए क्या क्या योग्यता होनी चाहिए?

  • भारत का नागरिक होना चाहिए
  • शारीरिक और मानसिक रूप से बिल्कुल स्वस्थ होना चाहिए
  • अंग्रेजी भाषा का ज्ञान होना चाहिए
  • आयु 16 वर्ष या उससे अधिक होनी और 26 वर्ष से कम होनी चाहिए।
  • किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से मैथमेटिक्स, फिजिक्स, और इंग्लिश से 50% के साथ 10+2 की डिग्री होनी चाहिए।

एयरफोर्स में चयनित होने के लिए चयन प्रक्रिया क्या है?

भारतीय वायु सेना में चयनित होने के लिए चार पड़ावों को पार करना होता है।

  • लिखित परीक्षा
  • फिजिकल टेस्ट
  • मेडिकल टेस्ट
  • इंटरव्यू 

एयरफोर्स में चयनित होने के लिए कोनसा एग्जाम देना होता है?

  • अगर आप 10+2 के बाद भारतीय वायु सेना में जाना चाहते हैं तो आपको संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा कंडक्ट एनडीए का एग्जाम देना होता है। अगर आप इस एग्जाम में पास हो जाते हैं तो आपकी ट्रेनिंग होती है और उसके बाद आपको भारतीय वायु सेना में जॉब मिल जाती है।
  • अगर ग्रेज्यूशन के बाद भारतीय वायु सेना में जाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा कंडक्ट सीडीएस और एनसीसी का एग्जाम देना होता है। यह एग्जाम स्पेशल एंट्री स्कीम एग्जाम होते हैं। इन एग्जाम का आयोजन यूपीएससी द्वारा साल में 2 बार करवाया जाता है।
  • AFCAT का एग्जाम भारतीय वायु सेना द्वारा आयोजित किया जाने वाला सबसे बड़ा इक्वी पेमेंट एक्सरसाइज मानी जाती है। जो IFF के फ्लाइंग, टेक्निकल, और ग्राउंड तीनों ब्रांचेस में महिला और पुरुष दोनों की भर्ती निकाली जाती है। आप इस एग्जाम को देकर भी भारतीय वायु सेना में चयनित हो सकते हैं।

भारतीय वायु सेना में कौन कौनसे  लेवल होते हैं?

भारतीय वायु सेना में चार लेवल के अधिकारी होते हैं।

  • जूनियर लेवल
  • एक्जीक्यूटिव लेवल
  • डायरेक्टर लेवल
  • चीफ लेवल

जूनियर लेवल

इसमें फ्लाइंग ऑफिसर और फ्लाइंग लेफ्टिनेंट होता है।

एक्जीक्यूटिव लेवल

इसमें विंग कमांडर और स्क्वाड्रन लीडर होता है।

चीफ लेवल

इसमें चीफ मार्शल होता है।

भारतीय वायु सेना के ऑफिसर की सैलरी स्ट्रक्चर क्या है?

Pay Level     21700- 57500 रुपए

Basic Pay              21700 रूपए

मिलिट्री सर्विस Pay           5200 रूपए

तकनीकी योग्यता वेतन        6200 रूपए

कुल वेतन                       26900 रूपए

भारतीय वायु सेना को मिलने वाले अन्य लाभ

  • नगर प्रतिपूरक भता
  • परिवहन भता
  • निवास सुविधा
  • राशन सुविधा
  • चिकित्सा की फ्री सुविधा
  • शिक्षा के लिए लोन सुविधा
  • बच्चो की स्कॉलरशिप
  • लाइफ इंश्योरेंस

ये भी पढ़ें –

निष्कर्ष

इस पोस्ट में आपको भारतीय वायु सेना के बारे में और एयरफोर्स की नौकरी कितने साल की होती है जानकारी प्रदान की गई है। अगर आपका सपना भी भारतीय वायु सेना में अपने देश के लिए सेवा प्रदान करने का ह तो यह पोस्ट उम्मीद से आपके लिए उपयोगी सिद्ध हुई होगी। वायु सेना में चयनित होना एक बहुत ही गर्व की बात है। क्योंकि यहां से हम अपने देश के लिए कुछ कर सकते हैं। और देश के लिए कुछ करना हर एक नागरिक का सपना होता है। वायु सेना में चयनित होने से आपको वेतन के अतिरिक्त और भी बहुत सारी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती है जिनकी चर्चा ऊपर की गई हैं।

उम्मीद है यह पोस्ट आपको पसंद आई होगी अगर हां तो इसे अपने फ्रेंड्स के साथ अधिक से अधिक शेयर करें। और कोई गलती हुई हैं तो आप कमेंट बॉक्स में अपनी राय दे सकते हैं। हमे आपकी राय का स्वागत होगा। और ऐसे ही अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर हमारी पोस्ट पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट को दुबारा से जरूर विजिट करें। पोस्ट पढ़ने के लिए धन्यवाद!

FAQs

भारतीय वायु सेना की स्थापना कब हुई?

एयरफोर्स की स्थापना 8 अक्टूबर 1932 को हुई।

भारतीय वायु सेना का मुख्यालय कहां पर है?

एयरफोर्स का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है।

भारतीय वायु सेना दिवस कब मनाया जाता है?

एयरफोर्स दिवस 8 अक्टूबर को मनाया जाता है।

वर्तमान में भारतीय वायु सेना के वायुसेना अध्यक्ष कौन है?

वर्तमान में भारतीय वायु सेना के अध्यक्ष राकेश कुमार भदौरिया हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.